राजनीति

केजरीवाल अब अपनी सत्ता विस्तार के प्रयासों में काफ़ी भ्रमित दिखाई देने लगे हैं

हिन्दुत्ववाद की राजनीति में भाजपा से प्रतिस्पर्धा आसान नहीं       जिस दौर में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को मुसलमानों का ...

भारत विश्व-शक्ति कैसे बने?

     भारत की सरकारों से मेरी शिकायत प्रायः यह रहती है कि वे शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में क्रांतिकारी ...

कल तक जो ख़ुद ‘ग़ुलाम ‘ थे,आज़ाद हो गये

ग़ुलाम नबी आज़ाद का कांग्रेस को अलविदा कहना कोई अप्रत्याशित नहीं है। इसका आभास तो तभी होने लगा था ...

तेजस्वी यादव की नई आचार-संहिता

तेजस्वी यादव की नई पहल बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने दल के मंत्रियों के लिए एक नई आचार-संहिता जारी ...

कभी ख़त्म भी होगा सत्ता संरक्षण में पोषित होने वाला ‘असीमित भ्रष्टाचार ‘?

राष्ट्रीय राजमार्ग हों या अंतरराज्यीय मार्ग अथवा शहरों,क़स्बों व गांव की सड़कें या गलियां,कहने को तो इनका निर्माण जनता की ...

क्या ऐसा जन विरोधी आदमी राष्ट्रपति बनने के लायक है ?

यशवंत सिन्हा की जन विरोधी करतूत जानिए वरिष्ठ पत्रकार के. विक्रम राव की कलम से    के. विक्रम राव   राष्ट्रपति चुनाव (18 जुलाई ...

चिंतन शिविर या चिंता-शिविर?

उदयपुर में कांग्रेस का चिंतन-शिविर आयोजित किया जा रहा है। सबसे आश्चर्य तो मुझे यह जानकर हुआ कि इस जमावड़े ...

‘कमलनाथ’ शरणम् गच्छामि

सत्ता और संघर्ष का चोली दामन का साथ है। इस समय जब देश के सबसे पुराने राजनैतिक दल को बीते ...

नेहरू-गाँधी परिवार का नेतृत्व नहीं बल्कि सत्ता से वनवास है असल समस्या

     पिछले दिनों देश के पांच राज्यों में हुये विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के अनअपेक्षित प्रदर्शन के बाद पार्टी में ...

पंजाब में ‘आप ‘ के ‘मान’ के लिये सत्ता कितनी आसान ?

        देश के सबसे नवोदित राजनैतिक दल 'आम आदमी पार्टी ' ने राजधानी दिल्ली की राज्य की सत्ता पर क़ब्ज़ा ...