Author: डॉ0 वेद प्रताप वैदिक

आरक्षण : उत्तम लेकिन अधूरा फैसला

सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले का कौन स्वागत नहीं करेगा कि सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थाओं में 10 प्रतिशत आरक्षण ...

भारत विश्व-शक्ति कैसे बने?

     भारत की सरकारों से मेरी शिकायत प्रायः यह रहती है कि वे शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में क्रांतिकारी ...

कश्मीरः अमित शाह की दो-टूक बातें

गृहमंत्री अमित शाह ने बारामूला में 10 हजार से ज्यादा लोगों की सभा को संबोधित किया, यही अपने आप में ...

हिंदी-दिवस जनता कैसे मनाए?

हर 14 सितंबर को भारत सरकार हिंदी दिवस मनाती है। नेता लोग हिंदी को लेकर अच्छे-खासे भाषण भी झाड़ देते ...

उन नेताओं और अफसरों को अविलंब दंडित किया जाना चाहिए

भ्रष्टाचार के भवन को कौन गिराएगा? सुपरटेक द्वारा निर्मित नोएडा के दो संयुक्त टावरों का गिराया जाना अपने आप में एतिहासिक ...

भारत के शत्रु को रूस ने पकड़ा

रूस से संबंधित अभी-अभी दो घटनाएं ऐसी हुई हैं, जिन्होंने सारी दुनिया का ध्यान खींचा है। पहली घटना है- दारिया ...

तेजस्वी यादव की नई आचार-संहिता

तेजस्वी यादव की नई पहल बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने दल के मंत्रियों के लिए एक नई आचार-संहिता जारी ...

मज़हबी पोंगापंथी से ऊपर उठें

भारत में मजहब के नाम पर किस कदर पोंगापंथी लोग कोहराम मचाकर खुश होते हैं? अब ताजा क़िस्सा सामने आया ...

यह शुभ-संकेत है…..

ये न्याय है या मज़ाक ? यह शुभ-संकेत है कि भारत की न्याय-व्यवस्था की दुर्दशा पर हमारे प्रधानमंत्री और प्रमुख न्यायाधीशों ...

ममता सरकार की दुर्दशा

प. बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार भयंकर दुर्गति को प्राप्त हो गई है। कोई कल्पना भी नहीं कर सकता ...