साहित्य

विश्व पर्यावरण दिवस

पर्यावरण की शुद्धता पर ध्यान दीजिये । वातावरण को प्रदूषित अब मत कीजिए ।। वृक्ष इस धरा के, सब हैं पुत्र समान। आस-पास ...

मेरे महबूब…

मेरे महबूब ! उम्र की तपती दोपहरी में घने दरख़्त की छांव हो तुम सुलगती हुई शब की तन्हाई में दूधिया चांदनी की ठंडक हो तुम ज़िन्दगी के बंजर सहरा ...

जल संकट

विश्व जल दिवस 22 मार्च कल की चिंता हम सभी, मिलकर कीजिये । जल संकट पर सब, गहन विचार कीजिए।।   भावी पीढ़ी का ...

वीर हुतात्माओं को श्रद्धांजली

 कोई आतंकी जिंदा अब नहीं चाहिए। मैदान ए जंग में अब हिसाब होना चाहिए।।   शहीदों की शहादत को देश का सलाम। वीरों का ...

अध्यात्म के पुंज : स्वामी विवेकानन्द

(12 जनवरी, युवा दिवस)   विश्व धर्म मंच के, केन्द्रीय पुरूष हे । सहिष्णुता के देवल, दिव्य मनुज हे ।। वेद-ऋचा मन में, सत्य ...

मेरे दिल में इक चाहत है

प्रीति सुराना​​ मेरे दिल में इक चाहत है,आज नया सा गीत लिखूं। मुखड़े में लिख नाम तुम्हारा, बन्द-बन्द मनमीत लिखूं।।   रोज गली में ...

तुमसे ही सवाल क्यूँ

जय जवान जय किसान  दोनों आज बेहाल हैं एक सीमा पर खड़ा है दूजा खेत में ड़टा है अन्न और रक्षा से ही देश आज ...

अधूरी दास्ताँ

कुछ पुरानी यादें... और तुम्हारा साथ... वही पुराने प्रेम पत्र और अपनी बात... पलभर की गुस्ताख़ी, और अंधेरी रात... टूटें हुए मकान और सुना पड़ा खाट.. 'अवि' के ...

इक ग़ज़ल उसकी शान मेँ लिख दूँ

शायरोँ की जुबान मेँ लिख दूँ, अपने ताजे दीवान मेँ लिख दूँ। काब-ए-दिल मेँ तेरा नाम लिक्खा, जाऊँ मैँ अब कुरान मेँ लिख ...

साजिशेँ कर गई हवा लेकिन…

साजिशेँ कर गई हवा लेकिन, मैँ तेरी राह मेँ रूका लेकिन। रस्म-ए-उल्फत निभाई है मैनेँ, लोग कहते हैँ बेवफा लेकिन। हर शमां बुझ गई ...