कांग्रेस और RJD का इंडी-गठबंधन, भारत को बांटने में जुटा

    कांग्रेस और RJD का इंडी-गठबंधन, भारत को बांटने में ही जुटा है। ये समाज को आपस में लड़ाकर अपने वोटबैंक की तुष्टिकरण में लगा है उपरोक्त बातें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा बिहार के हाजीपुर, मुजफ्फरपुर और सारण में आयोजित विशाल जनसभाओं में कही।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का महापर्व होता है और अधिक मतदान इसकी शोभा बढ़ा देता है। जनता का प्रत्येक वोट लोकतंत्र का गहना है। हाजीपुर की धरती पर भगवान श्रीराम के चरण पड़े थे, इसलिए हाजीपुर की धरती पर आकर जनता से आशीर्वाद प्राप्त करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। यह पहला लोकसभा चुनाव है जब हम स्वर्गीय रामविलास पासवान की अनुपस्थिति में लड़ रहे हैं। रामविलास जी सामाजिक न्याय के सच्चे साधक थे और हाजीपुर के प्रति उनका लगाव और समर्पण सदैव ही याद किया जाएगा। हाजीपुर और रामविलास जी के सपनों को साकार करने के लिए एनडीए प्रतिबद्ध है। आज दुनिया में भारत की साख भी है और धाक भी। भारत ने चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर चंद्रयान उतारकर शिव-शक्ति बिन्दु पर तिरंगा फहराया है। देश की जनता के सपने ही, मेरा संकल्प है। मोदी 24/7 फॉर 2047 के लिए लगा हुआ है। देश के लोगों ने मुझे जो जिम्मेदारी दी, मैं उसको ईमानदारी से निभा रहा हूँ। मोदी ने मात्र 10 वर्षों में कांग्रेस के 60 साल के राज से अधिक विकास करके दिखाया है। मोदी ने 10 साल में हाईवे और एक्स्प्रेस-वे बनाए, आधुनिक ट्रेनें चलाई और रेल ट्रैक बिछाए। 4 जून के परिणाम कहने वाले हैं, फिर एक बार मोदी सरकार। एनडीए को दिया प्रत्येक वोट केंद्र में मोदी की मजबूत सरकार बनाएगा।

     आगे मोदी ने कहा कि सामाजिक न्याय के नाम पर लालटेन वालों ने बिहार को अंधेरे, गरीबी और अभाव में धकेलकर, जंगलराज स्थापित किया। राजद और कांग्रेस के पास बिहार को आगे बढ़ाने की इच्छा शक्ति ही नहीं है। राजद के लोग जनता को लूटकर अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने में लगे हुए हैं। राजद नेता विकास कार्यों से भागते हैं, क्योंकि उसमें मेहनत लगती है, खुद को खपाना पड़ता है। इन लोगों के नाकारापन ने बिहार के कई बहुमूल्य दशक बर्बाद किए हैं और ऐसे नकारे लोगों से बिहार को बचाना है। कांग्रेस और राजद ने तुष्टीकरण को सबसे बड़ा राजनीतिक हथियार बना लिया है। आजकल इंडी गठबंधन में शामिल पार्टियां  राम मंदिर के लिए भद्दी-भद्दी बातें कर रहे हैं। राम मंदिर को गाली देकर और उसका बहिष्कार कर जनता का मखौल उड़ा रहे हैं। ऐसे लोगों को माफ नहीं किया जा सकता है। कांग्रेस- राजद की प्राथमिकता आम जनता नहीं, बल्कि उनका अपना वोट बैंक है। बिहार में जंगलराज लाने वाले व्यक्ति चारा घोटाले में सजा काट रहे हैं। उनके नेता ने एक बयान दिया है कि एक वर्ग विशेष को पूरा का पूरा आरक्षण दिया जाना चाहिए, जिसका मतलब है कि दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों को मिलने वाला पूरा आरक्षण ये अब सिर्फ एक वर्गविशेष को देना चाहते हैं। मैं भी अतिपिछड़े समाज से आता हूँ और ऐसी बातें सुनकर स्वयं बैचनी बहुत बढ़ जाती है। कांग्रेस और राजद को न तो बाबा साहब के विचारों की चिंता है और न तो संविधान की। बिहार की जनता अपना हक इंडी गठबंधन को छीनने नहीं दे सकती है। मैं आपको गारंटी देता हूँ कि जब तक मोदी जिंदा है, ये लोग आपके अधिकारों पर डाका नहीं डाल सकते हैं। ये लोग आपके आरक्षण को छीन नहीं सकते। उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि वह समय चला गया कि जब उन्होंने महिलाओं को मिलने वाले आरक्षण के कागज फाड़ दिए थे और अगर आगे ऐसी कोई कोशिश होती है तो उनके लिए और ज्यादा मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।

      अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए नरेन्द्र दामोदर दास मोदी ने कहा कि इंडी गठबंधन के नेताओं ने मुंगेरीलाल के सपने देखने शुरू कर दिए हैं। इंडी गठबंधन रूपी भानुमती का कुनबा इकट्ठा नहीं रहने वाला है, इसलिए इन्होंने एक नया फॉर्मूला बनाया है कि हर वर्ष, एक प्रधानमंत्री और 5 साल में 5 प्रधानमंत्री। लेकिन इंडी गठबंधन का यह फार्मूला देश का विकास नहीं कर सकता है। राजद और कांग्रेस अपना वजूद बचाने के लिए तुष्टीकरण की जिद पर अड़े हैं। कांग्रेस लिख कर दे कि वह एससी, एसटी और ओबीसी का आरक्षण वर्ग विशेष को नहीं देंगे और धर्म के नाम पर आरक्षण को नहीं बाटेंगे। तीन हफ्तों से कांग्रेस और उनके साथियों के मुंह पर ताला लगा हुआ है। राजद के नेता भी कांग्रेस के वादों और इरादों को खारिज नहीं कर रहे हैं। वंचितों का जो अधिकार है, मोदी उसका चौकीदार है। मोदी सरकार ने सामान्य वर्ग के लोगों को 10% आरक्षण दिया और देश में कोई तनाव नहीं हुआ, मगर कांग्रेस अपने वोटबैंक को आरक्षण देकर देश में आग लगाना चाहती है। कांग्रेस पार्टी जनता की संपत्ति कर एक्स-रे कर, उसे जब्त कर और अपने वोटबैंक को बांटने की योजना बना रही है। कांग्रेस के नेता कहते हैं कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। कांग्रेस देश में विरासत टैक्स लगाकर लोगों की आधी से अधिक संपत्ति को भी छीनने की योजना बना रही है, मगर मोदी इनको ऐसा नहीं करने देगा।

      प्रधानमंत्री जी ने आगे बढ़ाते हुए कहा कि बिहार में भी जंगलराज वाली पार्टी चारों खाने चित्त होने जा रही है। देश को कांग्रेस वाली कमजोर, डरपोक और अस्थिर सरकार नहीं चाहिए। कांग्रेस के नेताओं को रात के सपने में भी पाकिस्तान का परमाणु बम दिखाई देता है और ऐसे लोगों के हाथ में देश की बागडोर नहीं दी जा सकती है। कांग्रेस के नेता मुंबई हमले में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रहे हैं और सर्जिकल और एयरस्ट्राइक पर सवाल उठा रहे हैं। वामदल के लोग भारत के परमाणु हथियारों को ही खत्म करना चाहते हैं। इंडी गठबंधन वालों ने भारत के खिलाफ सुपारी ली हुई है और ऐसे स्वार्थी लोग देश की सुरक्षा के लिए कड़े कदम नहीं उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी पूर्वी भारत के राज्यों को विकसित भारत के विकास का ग्रोथ इंजन मानता है और इसलिए विकसित बिहार और विकसित भारत के मंत्र पर काम किया जा रहा है। एनडीए सरकार चारों दिशाओं में एक साथ काम करने का स्वभाव रखती है। पहले की सरकारों ने नक्सलवाद को पाला और जनता के खिलाफ उसका इस्तेमाल भी किया। नक्सलवाद के कारण बिहार में सभी उद्योग चौपट हो गए थे। पहले शाम होते ही घरों में छिपना पड़ता था। राजद के जंगल राज ने बिहार को कई दशक पीछे धकेल दिया था, लेकिन यह एनडीए की सरकार है जो बिहार में कानून व्यवस्था को दोबारा पटरी पर लेकर आई है। आज बिहार में नक्सलवाद के मामले तेजी से घट रहे हैं, शांति स्थापित हो रही है और उद्योग फिर से लौट रहे हैं।

     मोदी जी ने कहा कि भाजपा और एनडीए सामाजिक न्याय की पहरेदार है। आज देश में सबसे अधिक एससी, एसटी और ओबीसी सांसद और विधायक एनडीए के ही हैं। केन्द्रीय मंत्रीमण्डल के 60% मंत्री इन्हीं वर्गों से आते हैं। इतना ही नहीं, 2014 में भाजपा और एनडीए की सरकार बनने के बाद, एक दलित के बेटे श्री रामनाथ कोविन्द जी को देश क राष्ट्रपति बनाया गया और आज आदिवासी समाज की बेटी श्रीमति द्रौपदी मुर्मू देश की महामहिम राष्ट्रपति हैं। कांग्रेस-राजद ने बिहार की कई पीढ़ियों के सपनों को तबाह किया है। राजद के नेताओं ने संसद और विधानसभा में महिलाओं के आरक्षण के प्रस्ताव के कागजों को फाड़ दिया था। राजद और कांग्रेस की विकृत मानसिकता के कारण महिलाओं को उनका अधिकार नहीं मिल पाया, मगर मोदी सरकार ने नई संसद बनते ही महिलाओं के आरक्षण के कार्य को भी पूरा कर दिया। राजद इसकी विरोधी है और अगर वे लोग सत्ता में आए तो इस महिला आरक्षण को छीन लेंगे।

      अपनी बात को बहुत ही दमदारी से लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बिहार में राजद राज में केवल अपहरण और फिरौती का उद्योग ही फला-फूला। हाजीपुर के सभी उद्योग धंधे चौपट हो गए। आरजेडी-कांग्रेस ने बिहार को केवल पलायन और तबाही दी। मोदी विकसित भारत और विकसित बिहार के संकल्प को लेकर आगे बढ़ रहा है। भाजपा और एनडीए का ट्रैक रिकार्ड, भ्रष्टाचारियों को खोज कर सजा देने का रहा है। राजनेताओं के घर से पकड़े जाने वाले पैसे, देश और बिहार की गरीब जनता के पैसे हैं और ये पैसे की लूट मुझे चैन से सोने नहीं देती है। यूपीए सरकार के दौरान चोरी करने वाले चोरी कर रहे थे, मगर ईडी ने पूरे देश से मात्र 35 लाख रुपए जब्त किए थे। लेकिन मोदी सरकार ने पिछले 10 वर्षों में भ्रष्टाचारियों के ठिकानों से लगभग 2200 करोड़ रुपए जब्त किए हैं। यूपीए सरकार ने जितने पैसे जब्त किए, वो मात्र एक स्कूल बैग में समाहित हो सकते हैं, मगर मोदी सरकार द्वारा जब्त पैसों को ले जाने के लिए 70 ट्रकों की आवश्यकता है। देश के भ्रष्टाचारियों और चोरों की नींद उड़ गई है, इसलिए मोदी को गाली दे रहे हैं। इन लोगों ने नौकरियों के बदले जमीन लिखवाकर, दिल्ली और देश में जो जायदाद बनाई है, उन सभी को केंद्रीय एजेंसियों द्वारा जब्त कर लिया गया है। मोदी की गारंटी है कि गरीब से जमीन छीनने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। कांग्रेस और राजद का इंडी गठबंधन भारत को बांटने में जुटा हुआ है। कांग्रेस ने कर्नाटक में धर्म के आधार पर आरक्षण देने की दिशा में रातों-रात राज्य के सभी वर्ग विशेष के लोगों को ओबीसी बना दिया। कांग्रेस आदिवासियों, दलितों के आरक्षण को खत्म  करना चाहते हैं। कर्नाटक मॉडल को कांग्रेस बिहार में भी लागू करना चाहती है। मोदी अपनी जान की बाजी लगा देगा, लेकिन किसी को आदिवासियों, दलितों का आरक्षण खत्म नहीं करने देगा। मोदी किसी को धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं देने देगा और यह मोदी की गारंटी है।

     प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा कि भाजपा की प्रतिबद्धता बिहार के सपनों को पूरा करना है। बिहार में 8 नए मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हुए हैं, 10 हजार से  ज्यादा आयुष्मान आरोग्य मंदिर बने हैं, 60 हजार से ज्यादा सामुदायिक सर्विस सेंटर खुले हैं। एक दशक पहले कांग्रेस सरकार के तहत प्रतिमाह 20,000 रुपये की आय पर भी कर लगाना पड़ता था। इसके विपरीत, आज 60,000 रुपये तक की आय वाले नागरिकों को अतिरिक्त टैक्स नहीं देना पड़ेगा। पहले, मोबाइल फोन गरीबों के लिए एक विलासिता थी, जबकि आज लगभग हर व्यक्ति के पास मोबाइल फोन है। देश में 60 साल में जितने एम्स बनाए गए, उससे दोगुना संख्या में एम्स को पिछले 10 सालों में बनाया गया है। मोदी सरकार ने देश में मेडिकल कॉलेज की संख्या डबल कर दी है और सारण में भी 500 बेड का मेडिकल कॉलेज खोला गया है। आरजेडी-कांग्रेस का एनडीए के विकास के सामने कोई मुकाबला ही नहीं है। कांग्रेस घोटाले करके अपनी तिजोरियां भर रही थी, मगर गरीब के पेट भरने की चिंता नहीं कर रही थी। मोदी की गारंटी है कि कोई भी गरीब भूखा नहीं सोएगा, इसलिए आज देश के 80 करोड़ लोगों को नि:शुल्क अनाज मुहैया कराया जा रहा है। मोदी सरकार ने गरीबों को 4 करोड़ पक्के घर बनाकर दिए हैं। मोदी ने हर घर को पीने का जल, महिलाओं को खुले में शौच न जाने और बहनों को जहरीले धुएं से निजात दिलाने की चिंता की। एनडीए सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिहार को हुआ है। बिहार के 8 करोड़ लोगों को मुफ़्त राशन मिल रहा है, राज्य में सवा करोड़ शौचालय कर निर्माण किया गया है और 40 लाख लोगों को पीएम आवास प्रदान किए गए हैं। मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में 3 करोड़ नए आवास बनाए जाएंगे।

     आगे उन्होंने कहा कि मोदी कार्यकाल में भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है और नए रोजगार के अवसर भी पैदा हो रहे हैं। पिछले 10 वर्षों में बिहार में 1400 किलोमीटर रेल लाइन बिछाई गई और 400 से अधिक रेलवे फ्लाइओवर और अंडरपास और 3300 किलोमीटर नेशनल हाईवे का निर्माण किया गया, जिनसे लोगों को रोजगार भी मिला है। बिहार में चाहे सड़कों के चौड़ीकरण की बात हो, एक्स्प्रेसवे निर्माण की बात हो, बिहार में खाद के कारखाने का काम हो, थर्मल पावरप्लांट, गंगा नदी पर बन रहे अनेकों पुल हों, पटना में चल रहा मेट्रो रेल का कार्य हो, गांव गाँव तक उज्ज्वला की गैस पहुंचाने का नेटवर्क हो- ये सब रोजगार की गारंटी के कारण ही संभव हो पाते हैं। जो लोग अपने बाप दादा की कमाई खाकर जीते हैं, रोजगार क्या होता है उनको यह समझ नहीं आ सकता है। मोदी ने तय किया है कि बिहार के 90 से ज्यादा रेलवे स्टेशन को आधुनिक बनाया जाएगा। पिछले 10 वर्षों में मोदी ने 4 करोड़ पक्के घर बनाकर गरीबों को दिए हैं और सिर्फ बिहार में ही 40 लाख पक्के घर गरीबों को दिए गए हैं। इन घरों के निर्माण में इस्तेमाल हीने वाली सामग्री मोहल्ले की दुकान से ही जाती है और इन सब का लाभ बिहार के नौजवानों को ही पहुँच रहा है।

     प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि प्रत्येक परिवार में 70 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए 5 लाख रुपये तक मुफ़्त इलाज मुहैया कराया जाएगा। कांग्रेस शासन के दौरान, एक एलईडी बल्ब की कीमत लगभग 400 रुपये थी, लेकिन मोदी सरकार में यह 40-50 रुपये में मिल रहा है। इस पहल से गरीब और मध्यमवर्गीय परिवारों को बिजली के बिल में लगभग 20 हजार करोड़ रुपये की बचत हुई है। नागरिकों को और अधिक लाभ पहुंचाने के लिए, एक नई योजना शुरू की गई है, जिसमें बिजली बिल शून्य कर दिया जाएगा। साथ ही अब लोगो को अपने घरों में बिजली पैदा करने का अवसर मिलेगा। मोदी सरकार ने पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का पंजीकरण शुरू कर दिया गया है। इस योजना के तहत, परिवारों को अपनी छतों पर सौर पैनल स्थापित करने के लिए सरकार से 75,000 रुपये की सब्सिडी मिलेगी। जनता आवश्यक बिजली का उपयोग कर सकती है और अतिरिक्त बिजली को सरकार को बेच भी सकती है, जो उनके लिए दोगुना फायदेमंद होगा। क्योंकि उनका बिजली बिल शून्य हो जाएगा और वे सरकार को बिजली बेचने के बाद लाभ भी प्राप्त कर सकेंगे। बिहार के लाखों किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के माध्यम से 22,000 करोड़ रुपये मिले हैं, जिससे लीची, आम और अन्य फसलों की खेती करने वालों को महत्वपूर्ण लाभ मिला है। एनडीए सरकार ने ही मुजफ्फरपुर की लीची को जीआई टैग प्रदान किया है।

     प्रधानमंत्री जी ने कहा कि भाजपा सरकार आने वाले पांच वर्षों में फलों और सब्जियों के लिए विशेष भंडारण क्लस्टर स्थापित करने का इरादा रखती है। भाजपा सरकार की प्राथमिकता में मछुआरा समाज की चिंताओं को दूर करना भी शामिल है। मत्स्य सम्पदा योजना के माध्यम से हजारों करोड़ रुपये की सहायता मिली है। देश के इतिहास में पहली बार मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना में शामिल किया गया है और मछुआरों को समर्पित एक अलग मंत्रालय की स्थापना की गई है। साथ ही, उनके लाभ के लिए अलग बजट और योजनाएं भी बनाई गई हैं। बिहार में रेलवे, सड़क और हवाई अड्डों से जुड़ी सभी चल रही परियोजनाएं तेजी से आगे बढ़ रही हैं। इसका उद्देश्य बिहार को विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ाना सुनिश्चित करना है।

     जनता के प्रति अत्यंत स्नेह और सम्मान दिखाते हुए प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा कि मोदी का वारिस इस देश की जनता ही है और मुझे विरासत में आपको सब कुछ देकर जाना है। मुझे जनता को सुख चैन की जिंदगी देकर जाना है, बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की गारंटी देकर जाना है, विकसित भारत आपके हाथों में सौंप कर जाना है और इसलिए मैं हर कोशिश करता हूँ कि युवाओं के सभी सपने पूरे हों, वे हर काम कर सकें। सिर्फ मुद्रा योजना के तहत बिहार में 2.5 लाख करोड़ रुपए की मदद युवाओं को दी गई है और वह भी मोदी की गारंटी पर। मोदी को बिहार के नौजवानों पर भरोसा है उनको मैं रुपए दूंगा, वह उसे डबल कर देंगे और बैंक का लोन भी वापस कर देंगे। 2.5 लाख करोड़ रुपए यहाँ दलित, अतिपिछड़े युवाओं को मिले हैं जिससे यहाँ लाखों काम शुरू हुए हैं। यहाँ वैशाली सहित पूरे बिहार में पर्यटन आधारित रोजगार की अपार संभावना है, बुद्ध सर्किट के तहत यहाँ काम चल रहा है। विकसित बिहार और विकसित भारत के लिए आपको 20 मई को ज्यादा से ज्यादा मतदान करना है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भाजपा और एनडीए के स्थानीय प्रत्याशियों को भारी मतों से वजयी बनाने और तीसरी बार मोदी सरकार बनाने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

*