Author: भारत वार्ता

जो ज़िंदगी के लिए मौत को चुनते हैं…

पाकिस्तान के आतंकवादी संगठनों के लिये अजमल कसाब सिर्फ एक ऐसा नाम है जो फिदायीन बनकर भी मौत को गले ...

बिना हारे, स्त्री जीत नहीं सकती!

यह अवस्था अर्थात् तृप्ति या ऑर्गेज्म तो स्त्री की पुरुष के समक्ष हार या समर्पण का स्वाभाविक प्रतिफल होता है, ...

 गडकरी और सोनिया परिवार पर लगे आरोपों के अन्तर को समझना होगा

सुब्रह्मनयन स्वामी ने सोनिया गान्धी और  राहुल गान्धी पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप लगाये हैं । आरोपों के प्रमाण इतने ...

सुलग रही है असम की आग

असम में करीब एक पखवाड़े तक हिंसा की तेज आग की लपटे कम तो हुई, पर उसकी तपिश कम नहीं ...

असीम के आगे जहां और भी हैं

असीम ने मुंबई पुलिस के सामने आत्मसमर्पण क्या किया नई और पुरानी मीडिया के लिए असीम का समर्पण भी गिरफ्तारी ...

साइकिल से सोने के सिंहासन तक

खनन के काले कारोबार से कर्नाटक में सामानांतर सरकार चलाने की कुबत रखने वाले रेड्डी बंधुओं के पापा का घड़ा ...

लीबिया की बगावत के मायने

लीबिया के तानाशाह कर्नल मुअम्मर गद्दाफी अभी तक पकड़े नहीं गए हैं और उनके भागने की भी पुष्टि नहीं हुई ...

गायब हो जाने दो, बच्चा है!

अपने बच्चे को चहकते देख हर मां-बाप का मन गदगद हो जाता है। जरा सोचिये, जब यही मासूम दुनिया समझने ...

अमिताभ बच्चन से साक्षात्कार

कुछ दिनों पहले अमिताभ बच्चन से इंटरव्यू का वीडियो यहाँ ब्लॉग पर पोस्ट किया था। कुछ पाठकों ने उसका टेक्स्ट ...

रात के अंधेरे में लालगढ़ से दिल्ली तक माओवादी नज़रिया

-सत्ता बंदूक की गोली से निकलती है और व्यवस्था बंदूक से चलती है - कोबाड के एनकाउंटर की तैयारी झारखंड में ...