सामाजिक

    नमो गगन के तले

                 व्यक्तित्व मन, वचन कर्म का प्रतिफल होता है, इसका विकास एक लम्बे समय के पश्चात् होता है। कठोर परिश्रम ...

टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की स्मृति के मायने

सुभाष लखोटिया के प्रशंसकों एवं चहेतों के लिए यह विश्वास करना सहज नहीं है कि वे अब इस दुनिया में ...

ऐसेे थे महात्मा अब्दुल सत्तार ईधी

भारत में जन्में और पाकिस्तान में स्वर्गवासी हुए इस महात्मा का नाम अब्दुल सत्तार ईधी था। वे 92 साल के ...

एक असाधारण सृजनशील कलाकार रबीन्द्रनाथ ठाकुर

रबीन्द्रनाथ ठाकुर को आधुनिक भारत का असाधारण सृजनशील कलाकार माना जाता है. वे बांग्ला कवि, कहानीकार, गीतकार, संगीतकार, नाटककार, निबंधकार ...

गोडसे की  वो सच्चाई  जो आपसे 65 साल तक कांग्रेस नें छुपाया

वामपंथी इतिहासकारों नें इतिहास की सच्‍चाइयों को हमसे बहुत छुपाया ? कुछ लोग गोडसे को महात्मा गांधी की हत्‍या करने ...

पढ़ाई तीसरी कक्षा, मिला पद्मश्री

कवि हलधर नाग पर पांच छात्रों ने की है पीएचडी कवि हलधर नाग जिन्‍होंने अपनी प्रतिभा को बचपन से निखारा  और ...

इरादे हों यदि नेक तो मंजिल खुद मिलती है

कर्म ने मोड़ दिया जिंदगी का रुख जैबुनेशाप्रेरणा लेकर इंसान अपनी तकदीर संवार सकता है। इस बात को जैबुनेशा से बेहतर ...

चमार एवं खटिक जाति का गौरवशाली इतिहास..

सिकन्दर लोदी (१४८९-१५१७) के शासनकाल से पहले पूरे भारतीय इतिहास में 'चमार' नाम की किसी जाति का उल्लेख नहीं मिलता। ...

चले गये राम मंदिर की आस लिए

जो ना तो राजनीति का नायक बना। ना ही हिन्दुत्व का झंडाबरदार। लेकिन जो सपना देखा उसे पूरा करने में ...

भारत का अखंड स्वरुप

कहा जाता है कि वीर सावरकर की अस्थियाँ अभी भी उनके वंशजों के पास सुरक्षित हैं । वे अपनी मृत्यु ...