विधानसभा चुनाव

हार के कांग्रेसी शिल्पकार

उत्तर प्रदेश हुई हार से कांग्रेस को सबक लेना चाहिए कि मात्र राहुल के करिश्माई नेतृत्व या क्षमताओं का ढिंढोरा ...

भ्रष्टाचार क्यों नहीं बना मुख्य चुनावी मुद्दा ?

पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में भ्रष्टाचार मुद्दा क्यों नहीं है? देश के सबसे प्रदेश उत्तर प्रदेश में ...

यूपी की बिसात पर गांधी परिवार की कश्मकश

यह पहला मौका है जब किसी चुनाव प्रचार के दौरान गांधी परिवार के भीतर की राजनीतिक कश्मकश खुल कर उभर ...

आरक्षण का कांग्रेसी पैंतरा

अभी पिछले दिनों सरकार ने पिछड़ा वर्ग के लिए निर्धारित २७ प्रतिशत कोटे में से ४.५ प्रतिशत आरक्षण अल्पसंख्यक समाज ...

नवाब की टोपी और गरीब की झोपड़ी से दूर है चुनावी लोकतंत्र

वोट डालने की खुशी से ज्यादा आक्रोश समाया है वोटरों में   इस चुनाव ने नेताओं को साख दे दी और वोटरों ...

आरक्षण के इस खेल में कितना और गिरेंगे

पांचों राज्यों के चुनाव की मण्डी सज चुकी है सभी अपने माल को बढ़िया व दूसरे के माल को घटिया ...

खम ठोंकता मोदी का खाम

गुजरात के सामाजिक राष्ट्रवाद के गर्भ में पल रहा यह राजनीतिक समाजवाद है. जिन हथकण्डों और तरीकों का इस्तेमाल करके ...

विधानसभा नतीजों का हिन्दुत्ववादी विश्लेषण

सुरेश चिपलूणकर पांच राज्यों में हुए विधानसभा नतीजों का हिन्दुत्ववादी विश्लेषण कर रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी को हिन्दुत्ववादी माननेवाले ...

बिहार चुनाव की खामोशी

जहां राजनीति का ककहरा अक्षर ज्ञान से पहले बच्चे सीख लेते हों, वहां चुनाव का मतलब सिर्फ लोकतंत्र को ढोना ...

कहीं न्यूज चैनलों पर आक्रोष, बिजनेस तो नहीं

सुबह का वक्त है। आप न्यूज चैनलों में बार-बार झांक रहे है। आपको इंतजार है,चार महत्वपूर्ण राज्यों के चुनाव परिणामों ...