गाँव-शहर के आंदोलन

इरादे हों यदि नेक तो मंजिल खुद मिलती है

कर्म ने मोड़ दिया जिंदगी का रुख जैबुनेशाप्रेरणा लेकर इंसान अपनी तकदीर संवार सकता है। इस बात को जैबुनेशा से बेहतर ...

पर्यावरण को दूषित करता ई-कचरा

डा. विनोद गुप्ता पर्यावरण को लेकर अभी हमारे देश में पूरी तरह जागरुकता नहीं आई है। प्रदूषण जैसे अहम मुद्दे विकास ...

जल से जागरूकता अनवरत जारी

डॉ. मोनिका शर्मा  इस बार होली से पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य में जल संकट को देखते हुये ...

बांधों से विकास?

-विमल भाई एनएचपीसी कहती है कि बांध से विकास होगा तो फिर प्रश्न ये है कि पूरी जानकारी लोगों को क्यों ...

शौच को शुचिता से जोडने की मुहिम

आजाद भारत का जो सपना लोगों ने गुना-बुना था, वह पूरा न हो सका। कई आकांक्षाएं अधूरी रह गईं और ...

जाट आरक्षण आंदोलन: सुलगते सवाल

                        पिछले दिनों देश का सबसे खुशहाल एवं प्रगतिशील समझा जाने वाला हरियाणा राज्य जाट आरक्षण आंदोलन के नाम पर ...

अमर शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद के शहादत दिवस

 (27 फरवरी) पर विशेष  शहादत थी हमारी इसलिये कि आज़ादियों का बढ़ता हुआ सफ़ीना रुके न एक पल को मगर ये क्या? ये अँधेरा ये ...

जाति से पिंड कैसे छूटे?

जन्मना जाति-व्यवस्था भारत का अभिशाप है। उसे भंग करने का नारा महर्षि दयानंद और डॉ राममनोहर लोहिया जैसे समाज सुधारकों ...