भू​माफिया से सांठगांठ वाले बरसठी (जौनपुर,उप्र) थानाध्यक्ष की शिकायत एडीजी से

रविन्द्र कुमार द्विवेदी की कलम से

भूमाफिया से सांठगाठ के चल्ते बरसठी (जौनपुर,उप्र) पुलिस सिविल कोर्ट के आदेश को एक मजाक बना दिया, एसडीएम को रिपोर्ट ही नहीं सौंप रहे हैं बरसठी थानाध्यक्ष

                    

   बरसठी,जौनपुर(उप्र)। भू​माफिया से सांठगांठ वाले बरसठी थानाध्यक्ष की शिकायत एडीजी वाराणसी से ग्राम/पोस्ट परियत, जिला जौनपुर, उप्र की राजकुमारी जी ने 10/01/2021 को ईमेल के माध्यम से किया है। ज्ञात हो कि ये भूमाफिया ग्राम पोस्ट परियत का सुरेश चंद गुप्ता पुत्र राजाराम हैं। उपरोक्त भूमाफिया ने कई कुओं व उसके नेतृत्व में एक बड़े से तालाब को पटवा दिया गया है और वो अब करीब सौ साल पुराने रास्ते को पूरी तरह कब्जा करना चाहता है जिसकी सहायता बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467), सिपाही बलवंत सिंह (पीएनओ नंबर : 112501277 कर रहे हैं।

    अपने पत्र में राजकुमारी जी ने शिकायत में लिखा कि गत 05 मार्च, 2021 को सिविल कोर्ट से एक आदेश पारित करवाया था कि विपक्षी उनके कब्जे व दखल में विधि विरूद्ध तरीके से हस्तक्षेप न करे और आदेश के दादरसी में लिखा है कि पूर्व दिशा के चहारदिवारी में दरवाजा डालने, निकलने, उठने व बैठने से उन्हें कोई न रोके। पत्र में आगे उन्होंने कहा कि उपर्युक्त आदेश के बाद भी उनका पड़ोसी व उसका परिवार कोई भी निर्माण कार्य दरवाजा आदि बनवाने के प्रयास करने पर हिंसात्मक रूख अपना लेता है, जिसके लिए मैंने ने दो बार मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर 8 मार्च, 2021 (पंजीकरण क्रमांक:0019421012057) और 23 मार्च, 2021 को शिकायत किया तो दोनों बार बरसठी पुलिस के भ्रष्ट अधिकारी पूरी तरह से फ्रॉड रिपोर्ट लगा दिये। बाद में एडीजी वाराणसी के पीआरओ से बातचीत हुई तो उन्होंने कहा कि एसडीएम से लिखवा के लाइये क्योंकि जमीन का मालिक एसडीएम ही होता  है तो आप अपने कब्जे व दखल में निर्माण कार्य करवा सकते हैं।

   अपने पत्र में अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए राजकुमारी जी ने कहा कि, दिनांक 29/10/2021 का एक पत्र एसडीएम मड़ियाहूं के यहां पत्र लिखा और उस पत्र पर एसडीएम मड़ियाहूं ने एसएचओ बरसठी को कानून व्यवस्था का पालन कराने के लिए अपने कार्यालय से 01/11/2021 को, जिसका पत्रांक संख्या : 1085 है, जिसमें दो पेज का एक शपथ पत्र भी था, को बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467)  भेजवा दिया। थानाध्यक्ष बरसठी राम सरीख गौतम उपरोक्त पत्र को पूरी तरह दबाते हुए कुंडली मारकर बैठ गए और आज तक कोई रिपोर्ट ही मड़ियाहूं तहसील के एसडीएम को नहीं भेजा।

     आगे परियत निवासी 74 वर्षीय बुजुर्ग महिला राजकुमारी जी ने पुन: 01/01/2022 को एसडीएम के नाम का एक और पत्र मड़ियाहूं के सक्षम मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया गया जिस पर सक्षम मजिस्ट्रेट नें लिखा कि “SHO बरसठी कृ0 मा0 न्यायालय के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करें। तत्पश्चात उपरोक्त पत्र को स्पीड पोस्ट से बरसठी थानाध्यक्ष को भेज दिया गया है लेकिन आज दिनांक तक बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467) ने कुछ नहीं किया।राजकुमारी जी  ने उपरोक्त पत्र में कहा कि इतना ही नहीं, पुन: 01/01/2022 को एसडीएम के नाम का एक और पत्र मड़ियाहूं के सक्षम मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया गया जिस पर सक्षम मजिस्ट्रेट नें लिखा कि “SHO बरसठी कृ0 मा0 न्यायालय के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करें। तत्पश्चात उपरोक्त पत्र को स्पीड पोस्ट से बरसठी थानाध्यक्ष को भेज दिया गया है लेकिन आज दिनांक तक बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467) ने कुछ नहीं किया।

सच्चाई को बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467)  कैसे और किस बहाने से झुठलाना चाहते हैं, थानाध्यक्ष की विपक्षी से  मिलीभगत  पूरी तरह उजागर हो जाती है
 

    राजकुमारी जी ने उनके बारे में अपने पत्र में लिखा कि बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467) पहले कह रहे थे कि एसडीएम कहे तब मैं निर्माण कार्य करवा दूंगा लेकिन वे अब कह रहे हैं कि डीएम लिखकर आदेश करे, सक्षम मजिस्ट्रेट नियुक्त हो तब निर्माण कार्य करवाएंगे, कभी कहते हैं वहां हत्या हो जाएगी, किसी से कहते हैं कि युवा वाहिनी वाले हमें फोन करते हैं तो कभी कहते हैं बजरंग दल वाले फोन करते हैं। ज्ञात रहे कि बरसठी थानाध्यक्ष ऐसा बनावटी माहौल का श्वांग रच रहे हैं मानो राजकुमारी जी का गेट निर्माण व गृह निर्माण हो जाएगा तो दंगा हो जाएगा जबकि सच्चाई ये है कि पुलिस थोड़ा कठोर रूख अपना लेती तो मात्र एक घंटे में सब कार्य हो जाता। सत्य यह है कि पुलिस राजकुमारी जी के विपक्षी सुरेश चंद गुप्ता से पूरी तरह मिल गई है मोटी रकम ऐंठ चुकी हैं नहीं तो बरसठी पुलिस मुख्यमंत्री को दो बार गलत रिपोर्ट क्यों लगाती, सीओ मड़ियाहूं  प्रधानमंत्री को क्यों गलत रिपोर्ट देकर गुमराह करते?

 

   29/10/2021 का एक पत्र एसडीएम मड़ियाहूं के यहां   ग्राम/पोस्ट परियत की राजकुमारी जी ने पत्र लिखा और उस पत्र पर एसडीएम मड़ियाहूं ने एसएचओ बरसठी को कानून व्यवस्था का पालन कराने के लिए अपने कार्यालय से 01/11/2021 को, जिसका पत्रांक संख्या : 1085 है, जिसमें दो पेज का एक शपथ पत्र भी था, को बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467) भेज दिया गया था। बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम उपरोक्त पत्र को पूरी तरह दबाते हुए उस पर कुंडली मारकर बैठ गए और आज तक कोई रिपोर्ट ही एसडीएम को नहीं भेजा।

  01/01/2022 को एसडीएम के नाम का एक पत्र मड़ियाहूं के सक्षम मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया गया जिस पर सक्षम मजिस्ट्रेट नें लिखा कि “SHO बरसठी कृ0 मा0 न्यायालय के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करें। तत्पश्चात उपरोक्त पत्र को स्पीड पोस्ट से बरसठी थानाध्यक्ष को भेज दिया गया है लेकिन आज दिनांक तक बरसठी थानाध्यक्ष राम सरीख गौतम (पीएनओ संख्या:960600467) ने कुछ नहीं किया। आज दो महीने से अधिक का समय हो जाने पर भी मामले से पूरी तरह अनजान बने हैं।

 

   आगे राजकुमारी जी ने एडीजी से एक और भ्रष्ट पुलिसकर्मी की शिकायत किया और कहा कि  बरसठी थाना का एक पुलिस जिसका नाम बलवंत (पीएनओ नंबर : 112501277  मोबाइल नंबर: 7376875008) है, वो भी मेरे परिवार को धमकाने, फर्जी मामले में फंसाने की धमकी देने, मानसिक यंत्रणा देना व उनके विपक्षी का पूरी तरह साथ देने में सबसे आगे है। उसकी कई बार शिकायत किया गया मगर बरसठी आलाकमान का उसके सिर पर हाथ होने से कोई उसका बाल बांका न कर सका, आज भी वो निडर होकर मेरे विपक्षी के साथ खड़ा है।

    तो फिर सच्चाई क्या है

     राजकुमारी जी ने एडीजी से सच्चाई लिखते हुए यह कहा कि : 1: मेरे पास सिविल कोर्ट का आर्डर है कि विपक्षी सुरेश चंद गुप्ता पुत्र राजाराम उनके कब्जे व दखल में विधि विरूद्ध तरीके से हस्तक्षेप न करे, यानि यदि राजकुमारी जी के गृह कार्य निर्माण को उनका विपक्षी रोकना चाह रहा है तो कोर्ट से कागज लाए। 2: कोर्ट ने उनके यानी राजकुमारी जी के पूर्वी चहारदिवारी में दरवाजा लगाने से मना नहीं किया है भले ही मुकदमा चल रहा है। 3: विपक्षी (सुरेश चंद गुप्ता) अपनी भूमि में निर्माण कार्य कर लिया है ये मड़ियाहूं तहसील के अधिकारीगण 2016 के जांच में सिद्ध कर दिये हैं, जिसकी थाना बरसठी में रिपोर्ट लगाई जा चुकी है 4: उनके यानि राजकुमारी जी के भूमि 1156 में कोई स्टे आर्डर नहीं है। 4: राजकुमारी जी का जो सामना है पूर्वी चहारदिवारी के सामने की भूमि आबादी व आम रास्ता है, ये सक्षम मजिस्ट्रेट के जांच से सिद्ध हो गया है । 5: राजकुमारी जी का विपक्षी जिस 817 छ की बात कर रहा है उसका अभी तक सीमांकन ही नहीं हुआ है।

 

  1. राजकुमारी जी के पास सिविल कोर्ट का आर्डर है कि विपक्षी सुरेश चंद गुप्ता पुत्र राजाराम उनके कब्जे व दखल में विधि विरूद्ध तरीके से हस्तक्षेप न करे, यानि यदि राजकुमारी जी के गृह कार्य निर्माण को उनका विपक्षी रोकना चाह रहा है तो कोर्ट से कागज लाए।

2: कोर्ट ने उनके पूर्वी चहारदिवारी में दरवाजा लगाने से मना नहीं किया है भले ही मुकदमा चल रहा है।

3: विपक्षी (सुरेश चंद गुप्ता पुत्र राजाराम) अपनी भूमि में निर्माण कार्य कर लिया है ये मड़ियाहूं तहसील के अधिकारीगण 2016 के जांच में सिद्ध कर दिये हैं, जिसकी थाना बरसठी में रिपोर्ट लगाई जा चुकी है

4: राजकुमारी जी के भूमि 1156 में कोई स्टे आर्डर नहीं है।

 4: राजकुमारी जी का जो सामना है (आबादी उसकी होती है जिसका सामना होता है), सुरेश गुप्ता का पीछा है। राजकुमारी जी के पूर्वी चहारदिवारी के सामने की भूमि आबादी व आम रास्ता है, ये सक्षम मजिस्ट्रेट के जांच रिपोर्ट से सिद्ध हो गया है।

5: विपक्षी सुरेश पुत्र राजाराम जिस 817 छ की बात कर रहा है उस भूमि का अभी तक सीमांकन ही नहीं हुआ है।

 

   अंत में उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि अविलंब उपरोक्त दबंग सुरेश गुप्ता पुत्र राजाराम को पुलिस अपने हद में रहने को कहे उनके कब्जे दखल के निर्माण कार्य में विपक्षी बाधा बन रहा है वो रोके। ज्ञात हो कि थाना बरसठी के पुलिस अधिकारी पूरी तरह से सुरेश चंद गुप्ता से मिल गए हैं। राजकुमारी जी अपने चहारदिवारी में अपने सामने गेट लगाना चाहती हैं उन्हें लगाने न​हीं दिया जा रहा है। इस मामले पर पुलिस पूरी तरह मूकदर्शक बनकर विपक्षी से पूरी तरह सांठगांठ कर लिया है। और, अब मामला संगीन दिखाकर कि हत्या हो सकती है मामले में पूरी तरह लीपापोती करना चाह रही है और राजकुमारी जी अपने सीमा में अपनी चहारदिवारी में जो कि उनका सामना है विपक्षी दबंग भूमाफिया गेट नहीं लगने दे रहा है।

राजकुमारी जी के पत्र में तहसील मड़ियाहूं के सक्षम मजिस्ट्रेट ने बरसठी थानाध्यक्ष से न्यायालय के आदेश को सुनिश्चित करने को कहा

   

   

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

*